Wednesday, 19 October 2016

बिग बॉस


                         
 
                                                               18  अक्टूबर 2016

                                           दूसरा दिन

लर्स चैनल पर आ रहे bigg boss 10 में आज प्रतियोगियों का दूसरा दिन है. आज प्रतियोगियों ने उसी तरह का व्यवहार किया जैसा कि  bigg boss के प्रतियोगियों से करने की उम्मीद रहती है. आज घर में हंगामा बरपा रहा .कभी मनोज पंजाबी और करन मेहरा के  बीच तो कवि प्रियंका और लोपामुद्रा के बीच. इसके अलावा स्वामी जी भी कहीं से कम नहीं हैं उन्होंने अपने व्यवहार से सभी प्रतियोगियों को पीछे छोड़ दिया है. स्वामी जी ने घर में आज लोपामुद्रा और आकांक्षा को धमकी तक दे डाली.

मनोज  ने  खाने को वाहियात कह दिया. करण ने इसका भरपूर विरोध किया और बाता- बाती हुई. मनोज चाहते हैं की करण कुछ न बोले और वह खाने को वाहियात बोल कर निकल जाए. थोड़ी-सी बहस बाजी सोने को लेकर भी हुई. नियमानुसार मालिक सो जाएंगे तभी सेवक सोएंगे लेकिन मालिक लोग एक-एक करके सो रहे थे बिचारे सेवक उनके इंतजार में बैठे थे. इसी बात को मुद्दा बनाया गया.

स्‍वामी जी का  कहना था कि  सलमान खान ने स्वामी जी के  कुछ राज लोपामुद्रा को बताया है और लोपामुद्रा ने स्वामी जी से यह वादा किया है कि वह यह बात किसी को नहीं बताएगी. वह किसी को यह बात बता भी नहीं रही थी. पर, स्वामी जी ने उस पर विश्‍वासघात का आरोप लगा दिया और परिणाम भुगतने  के लिए तैयार रहने को कहा. आखिरकार लोपामुद्रा भी कमर कसकर मैदान में उतर आई. बानी के साथ भी प्रियंका का थोड़ा-बहुत बहस  हो ही गया. प्रियंका का  तेवर देख कर लगता है कि वह बिग बॉस के घर में पूरी तैयारी के साथ आई है और उसने बिग बॉस को बड़े ध्यान से देखा हैऔर पूर्व के प्रतियोगियों से बहुत कुछ सीखा भी है. बानी ने कहा कि वह प्‍लीज बोले  और मालिक बनी प्रियंका को यह मंजूर नही है. इतनी बहस के बाद वे रो भी पड़ी.


बिग बॉस में आज प्रतियोगियों को लग्जरी बजट के तहत एक टास्क दिया गया. टास्‍क था कि मालिक बने प्रतियोगियों ने अपने 1-1 राज को कागज पर लिखकर बोतल में बंद कर दिया है. सेवक बने लोगों को यह राज पहचानना है कि यह किसका राज है. अगर सेवक जीत जाते हैं तो वह मालिक बन जाएंगे और मालिक बने इंडिया वाले सेवक
.
गौरव चोपड़ा आकांक्षा के पास जाते हैं और उनसे बातों ही बातों में यह पता कर लेते हैं कि उनकी मां और उनकी सास में दोस्ती थी और इसी का भुगतान आकांक्षा को करना पड़ रहा है. इस तरह सेवकों ने पहले राज पर से पर्दा उठा दिया.
आकांक्षा के हां कहते ही स्वामी जी फिर बोल पड़े कि आम आदमी के dna में गुलामी बसी हुई है. इस बात का आकांक्षा ने पुरजोर विरोध किया.


बिग बॉस ने स्वामी जी को कन्फेशन रूम में बुलाया और कहा कि आपको नेशनल टीवी पर इस तरह की बातें नहीं करनी चाहिए. तब स्वामी जी ने बॉस से कहा कि मैं जाकर सब से माफ़ी मांग लेता हूं और बाहर आकर उन्होंने सब से माफी मांगी. लोपामुद्रा ने कहा किआप अभी माफी मांग रहे हैं लेकिन बाहर जाकर फिर आप यही सब स्त्रियों के बारे में बोलेंगे.

गुरुजी आज पूरी तरह से बिग बॉस में छाए रहे. लगे हाथ उन्होंने गौरव चोपड़ा को भी सावधान किया. आकांक्षा को लेकर कि वह जब अपने पति की नहीं हुई तो आपकी क्या होगी. समझ में नहीं आता, अभी तो सभी घरवाले एक-दूसरे से अच्छी तरह मिले भी नहीं है और बाबा ने बात को शादी तक पहुंचा दिया है. एक बार बैठ कर बात करने से बात शादी तक पहुंच जाएगी, बहुत ही अटपटा-सा विचार है यह. गौरव ने भी उन्हें कड़े शब्दों में कहा कि आप जो बोल रहे हैं, वह सही नहीं है. 

 यह सब देख कर शक्ति कपूर की याद आ गई. बिग बॉस में जब आए थे तो सभी लोगों से  भरपूर सम्मान पा रहे थे लेकिन बाद में सबने उनको उनके व्यवहार के लिए आड़े हाथों लिया. लेकिन एक बात है शक्ति कपूर कुछ दिनों तक इज्जत पाते रहें लेकिन वर्तमान में  स्वामी जी ने एक तरह से सबको अपना दुश्मन ही बना लिया है.

  प्रियंका तो बानी को  सजा के तौर पर कारागार में डालने को तैयार थी पर कुल मिलाकर देखा जाए तो मानवीर थोड़े सुलझे हुए नजर आते हैं क्योंकि उन्होंने कल भी सबको बहस और लड़ाई से बचने को कहा और आज भी सबको समझाते रहे. उन्होंने स्वामी जी की अच्छी क्लास भी ली.  देखा जाए तो कुल मिलाकर दूसरे ही दिन bigg boss के घरवाले जाने पहचाने अपने रंग में आने लगे हैं.  ऐसा लग रहा है कि अगर सारे सेलिब्रिटी होते तो यह रंग इतनी जल्दी नहीं जमता क्योंकि सभी  लगभग  एक दूसरे को जानते - पहचानते  हैं और जब तक बहुत मजबूरी ना हो और बड़े मतभेद ना हो वे लोग खुलकर एक दूसरे के सामने नहीं आते.  आम जनता एक तरह से अपनी खुन्नस निकाल रही है कि तुमलोग सेलेब्रिटी हो तो क्या हम भी किसी से कम नहीं. हम भी टक्कर दे सकते हैं और तुम से जीत भी सकते हैं लेकिन देखना है आगे क्या होता है. और परिणाम तो समय के हाथ में है...


No comments:

Post a Comment